नशे में चुदाई आंटी की : शराब पिला के चुदवाया आंटी ने

loading...

मेरा नाम रजत है मैं जयपुर का रहने बाला हु, बात उस समय की है जब में दिल्ली काम करने के लिए गया था, और मुझे एक काम होटल में मिल गया, क्यों की होटल में मालिक का बेटा मेरे दोस्त का दोस्त था इसलिए मुझसे भी दोस्ती हो गयी और अपने होटल में ही मुझे नौकरी पे रख लिया. मेरे दोस्त का नाम समीर था, समीर के पापा ही होटल में खाना बनाते थे, क्यों की उन्होंने होटल मैनेजमेंट कर रखा था, और समीर की माँ भी हाथ बटाती थी.

loading...

धीरे धीरे कर के मुझे होटल का काफी काम आ गया यहाँ तक की मैं खाना भी बना लेता था, मैं समीर के पापा का शुक्रगुज़ार हु की उन्होंने मुझे ये सब सिखाया. अब तो मैं अकेला भी होटल की किचन को संभाल लेता था.

समीर के पापा दुसरा होटल बंगलुरु में खोलने बाले थे इस वजह से उनका बंगलुरु आना जाना सुरु हो गया और अब किचन में मैं और समीर की माँ ही रहते थे किचन में, समीर भी हैदराबाद चला गया कंप्यूटर में पढाई करने के लिए,

आंटी मुझसे काफी हिल मिल गयी थी, मैं भी होटल को बड़े अच्छे तरीके से संभल लिया था, किसी तरीके से कोई परेशानी नहीं थी, समीर के पापा भी बड़े खुश थे, अब वो लोग मुझे अपने घर का ही सदस्य समझते थे, आंटी की उम्र करीब 39 साल थी, उनकी शादी कच्ची उम्र में ही हो गया था और समीर के बाद कोई और बच्चा नहीं था इसलिए आंटी काफी यंग लगती थी |

एक दिन आंटी टॉप और जीन्स में थी उनकी चूचियाँ काफी फूली हुयी और टाइट लग रही थी और उनका गांड भी काफी उब्बरा हुआ लग रहा था, मैं उनकी चुचिओं को नज़र मार रहा था, क्यों की उस दिन वो गजब की सेक्सी लग रही थी, जब वो कुछ सामान उठाने के लिए झुक रही थी तो उनकी दोनों चूचियों दिख जाती थी, दोनों एक दूसरे से चिपके हुयी बीच में सिर्फ एक लकीर सी दिखती थी, मेरा मन डोल रहा था उस दिन इसके पहले मैंने कभी भी गलत नज़र से नहीं देखा था, पर आज उनकी सेक्सी ड्रेस के चलते ये सब हो रहा था. रात के करीब १२ बजे होटल बंद करके वो मुझे अपने गाडी से ड्राप करने वो अपने घर चली गयी.

दूसरे दिन वो फिर काफी सेक्सी पिंक कलर का टॉप और काप्री पहन के आयी उस दिन उनका ड्रेस काफी टाइट होने की वजह से गजब का लग रहा था, उनकी चुचिया साफ़ साफ़ दिख रहा था कितना बड़ा है पीछे से उनकी गांड उभरा हुआ और चौड़ा और गोल गोल चूतड़ मस्त माल लग रही थी. उस दिन ज्यादा कस्टमर होने की वजह से किचन काफी बिजी था, वो बार बार आ जा रही थी और मैं डिश बना रहा था, उस दिन ऐसा हुआ की आंटी एक दो बार गिरते गिरते मुझे पकड़ ली, उनकी चुचिया मेरे हाथ से दब रहा था, कई बार वो पार होने के लिए अपनी चूचियों को मेरे पीठ में रगड़ के पार हो रही थी हो सकता है ये जान बुझ के नहीं कर रही होगी क्यों की उस दिन काम काफी ज्यादा था, पर मेरा लंड बार बार खड़ा हो रहा था, फिर दिन में थोड़ा काम काम हुआ तो वो मेरे पास बैठ गयी और बात करने लगी.

रजत तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड है की नहीं ? मैंने शरमा के कहा नहीं आंटी गर्ल फ्रेंड कैसे होगी मैं तो दिन भर होटल में रहता हु, इसके लिए तो टाइम चाहिए, तो आंटी बोली क्यों किसी के शरीर को निहारने के लिए टाइम है? मैं समझ गया की आंटी को लगता है पता चल गया था की आज मैं उनको अपनी वासना भरी निगाहों से निहार रहा था. मैं कहा नहीं आंटी ऐसी बात नहीं है अगर होगी तो जरूर बताऊंगा.
फिर आंटी बोली देखो कोई अगर अच्छी लगे तो बताना, मैं तुम्हारी दोस्ती करवा दूंगी. फिर शाम को काफी कस्टमर होने की वजह से किचन काफी बिजी हो गया और काम काफी बढ़ गया मैं काफी थक चूका था, तो अन्त्य बोली रजत तुम आज काफी थके हुए नज़र आ रहे हो, और वो किचन से बाहर गयी और मेरे लिए एक पेग व्हिस्की बना के ले आयी बोली ले पि ले थकन उत्तर जाएगा, मैंने भी पी ली और काम पे लग गया. २ घंटे तक खूब काम किया रात के करीब ११ बज गए थे आंटी ने फिर एक पेग बना के लाई उसको भी मैं पी गया, शराब की वजह से मेरा थकान उत्तर चुका था.

रात को होटल बंद करने आंटी बोली रजत आज चल तुम्हे घर का खाना खिलाती ही आज तुम काफी थक गया है, मैंने भी हां कर दी और और होटल से थोड़े दूर पर ही अन्त्य का अपार्टमेंट था, वही चला गया, आंटी ठंडा पिलाई और वो बाथरूम में चली गयी जब वो बहार आयी तो मैं उनको देख के हैरान हो गया, वो नाईट सूट में काफी सेक्सी लग रही थी और उनका डिओड्रेंट काफी मदहोश करने बाल खुसबू था, उनकी गोल गोल चूची पारदर्शी कपडे की वजह से साफ़ साफ़ दिख रहा था, फिर वो बोली रजत ये टॉवल लो और तैयार हो जाओ तब तक मैं खाना लाती हु, और मैं बाथरूम के अंदर चला गया, उनके बाथरूम में हलकी लाइट और हल्का हल्का खुसबू दे रहा था मैं देखा की आंटी का गीला ब्रा और पंतय वही टंगा हुआ था, मैं उनके ब्रा और पेंटी को देख के ही अंदाज़ लगा लिया था की इसके अंदर किश तरीके का माल होगा मैं उनके ब्रा और पेंटी को सूंघना शुरू किया उसकी महक बहुत ही मदहोश कर देने बाला था, फिर मैं वही टांग दिया.

मैं नह के बाहर आया तो आंटी सोफे पे बैठी थी और हाथ में व्हिस्की की ग्लास थी, मैं देखा की मेरे लिए भी एक ग्लास बनना के रखी थी, आते ही वो चियर्स बोली और दोनों मिलकर व्हिस्की पी, पर मेरे ग्लास का व्हिस्की काफी स्ट्रांग था, फिर दुसरा पेग भी लिया और खाने की टेबल पे खाना खाने चला गया, आंटी खाना सर्व की और थोड़ा थोड़ा खाना खाया, फिर मैंने कहा ठीक है आंटी सुबह मिलते है और खड़ा हो गया जाने के लिए पर जैसे ही खड़ा हुआ लड़खड़ाने लगा, आंटी आगे बढ़कर संभाली उसी टाइम मेरा हाथ आंटी के बूब से टकराया, और गिरते गिरते बचा, आंटी बोली रजत तुम्हे काफी नशा हो गया है तुम आज यही रूक जाओ, रात भी काफी हो गया है, इस टाइम घर जाना ठीक नहीं है, तुम काफी नशे में हो, मेरा माथा काफी घूम रहा था, मैं भी हां कह दिया क्यों की मुझसे चला नहीं जा रहा था,

आंटी मुझे पकड़ के बैडरूम में ले गयी और समीर का बरमुंडा पेंट ला कर दी बोली चेंज कर लो, पर मैं चेंज नहीं कर पा रहा था और आंटी ने मेरी मदद की, वो मेरा जीन्स उतार दी और और पेंट पहनाने लगी, उसी समय मेरा लौड़ा आंटी के हाथ से छु गया और मेरा लौड़ा खड़ा हो गया, मैं भी लंड को खड़ा होने से रोक नहीं पाया था, आंटी बोली वाओ कितना बड़ा लंड और वो मेरे जांघिये से लंड को बाहर निकाल ली मेरा लंड और तन गया, आंटी बोलने लगी आज तक मैंने इतना बड़ा लंड नहीं देखा और वो मेरे लंड से खेलने लगी. आप ये कहानी नॉन वेग स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है.

फिर वो मेरे बदन पे किश करने लगी, एक हाथ से वो लंड पकड़ी टी और पुरे शरीरी को चूम रही थी मुझे काफी मजा आ रहा था फिर वो मेरे लंड को अपनी मुह में ले ली और लोलीपोप की तरह चूसने लगी, करीब १० मिनट को चूसने के बाद वो अपना ऊपर का कपड़ा उतार दी और अपनी बूब के मेरे मुह पे रख दी और निप्पल को मेरे मुह में दाल दी और बोली ले चूस ले और मैं चूसने लगा आंटी आह्ह्ह आअह्हह्हह उह्ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह्ह्ह आवाज़ निकाल रही थी, फिर वो मेरे छाती पे बैठ गयी और मेरा सर पकड़ ले अपने बूर में सटा ली और बोली ले चूम मेरी चुत को, मैंने जैसे भी जीभ लगाया उनका पानी निकल रहा था मैंने उनकी बूर की पानी को चाटा वो काफी नमकीन लग रहा था, वो और भी सेक्सी हो गयी और मेरे सर को कस के अपनी चुत में दबाये जा रही थी और झड़ गयी, मैं भी उनके बूर के पानी को पी गया फिर वो मेरे होठ को चाटने लगी,

फिर वो निचे लेट गयी और पैर फैला कर बोली ले मेरे राजा आज तू अपनी जवान लंड से मेरे भूख शांत कर दो, मैं भी उठ के अपना लंड उनके बूर के ऊपर रखा और एक धक्के में पूरा लंड अंदर, वो आउउउच की आवाज़ निकाली और कहने लगी चोद मुझे चोद, रगड़ अपनी लौड़े को मेरे चुत पे मैं भी धक्के पे दखकके लगाता गया, और करीब 15 मिनट के बाद मैं और आंटी झड़ गयी, फिर हम दोनों बिना कपडे ले एक दूसरे को पकड़ के सो गयी करीब १ घंटे बाद फिर मैं तैयार हो गया अब मैं निचे ही रहा और आंटी ऊपर बैठ के मेरे लंड को अपने बूर में डाल ली और उछाल उछाल के चोदने लगी, इस तरह से रात में करीब ४ बार हम लोगों ने चुदाई की, सुबह जब नींद खुली और नशा उतरा तो मैं आंटी से नज़र नहीं मिला पा रहा था, फिर आंटी बोली रजत जो हो गया सो हो गया अब तुम ये बात किसी को नहीं बताना नहीं तो तुम्हारी नौकरी भी जाएगी और मेरे साथ क्या होगा ये तुम अच्छी तरह से जानते हो, पर सप्ताह में एक बार हम दोनों एक साथ ही रात बिताते है पति पत्नी की तरह.

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


परिवार में चुदाई कहानीनॉनवेज सेक्स स्टोरी रक्षा बंधनमैँ भरी जवानी मेँ चुद गईmastrni ki chuday mare shthसास दामाद मा बेटे ओपेन सैकसी बिडीओbiwi ko chudyava hindi sex kahaniभाई बहन सास दामाद ओपेन सेकसी बिडीओnonvag.hindi sax स्टोरीThakur sahab ki antarvasna storiescollegeteachersexstoryमैंने अपनी मम्मी को चुदते हुए देखा फूफा से – 2 : सच्ची सेक्स कहानीहिंदी गे सेक्स स्टोरी पड़ोस के दादाजीSex story teri behan ki chut fad dungabukhar ki tandi me ma ki chudai ki khaniमराटिसैकसकहानियाchudakd bhaneXxx sex story condom Mami Chachi sirfनोकरी के लिये माँ को सेक्स स्टोरीसेक्सी चुटकुलेभाई-बहन की चुदाई की कहानीपहली बार बुर कैसे पेलते है बताओदेसी विलेज सेक्स स्टोरीज मेरी बहन की गदरायी हुई जवानीचुदाई की चाहत दीदी ने पूरी कीमेरी पहली चुत चुदाईJed k ladke s chudbaya Mene hindi sex storysexyaurat ki pahchanपाप ने कुबारी बेडी को चुदा मा बनाया सेकसि कहानीsex maa thand se bachane ke liye chudi bete seक्सनक्सक्स देसी सर्ब पि का gandनाभि चाटने का मन थामेरी चूत का गैग बैगकालेजचुदाईकहानीमै और मेरा परिवार चुदाईविधवा ज hotsex.comहिदी सेकसी कहानी गाड मारामाँ नेँ मेरा लण्ड लिया storiesBROTHER SE SEX HONE SE KYA FAIDA MILTA HAIbhaiya ka maine ilaj kiya sex storymast chudai mall dukan me kahanisexma beta storisjawani mai chudai bhaijaan sebubs sa dhude penadubai me bete ke sath hanimun xxx kahani Bahin bhaisaxमेरे नौकर ने चोदाpapa k draevar na home sax vasana story hindiमाँ के घर की चुदाईbahan ko baho me lekar chodaबहन के साथ ओरल सेकसKamukta servant massage hindi sex storysexkhanibhahiहिंदी सेक्स स्टोरी कार में चुदाई बहनmast chudai mall dukan me kahaniमराटिसैकसकहानियाबहन की चुदाई कहानीxxx didi bhai rakhsabandhan kahani.comसेक्स कहाणी विधवाकीदमदार लड से चुदाई मेरीdaily new संभोग कथा in Marathiमेरे सामने चोदा मेरी माँ कोnonvage sex stopy ma betaमराटिसैकसकहानियाचोद चोदकरसास दामाद भाई बहन ओपेन सेकसी बिडीओ हिनदीSixy shiway Marathi zavazavi kathasagrat mom sexkhaniचुदाई करके बहन को गर्भवती बनाया बहन के कहने परjawani mai chudai bhaijaan seभाई-बहन की चुदाई की कहानीdidi ko ghar m guma guma k choda.comदोस्त पती चुदाई कहाणीPati ki kmi pdosi ldke se sex khaniभाई बहन का सेक्स कहानीगर्मी का मौसम मे गरम चाची का तेल मालिस हिन्दी चुदाई कहानीपड़ोसी वाले चाचा से चुदीThakur के साथ suhagrat sex stories बीबी बनी दिल्ली की रन्डी सेक्सी कहानीविधवा बहन को बीवी बनाया फिर चोदा सेक्स शायरीमां बेटे की सुहागरात की कहानीबहन की चुदाई कहानीsali ne bhukhar uttara xnxx kahanime chudi tange wale se chudai storyपड़ोसी वाले चाचा से चुदीचुत में कड़क लौड़ा फासासासुमाँ को दमाद ने चोद सेक्सी चुदाईpapa k draevar k sat sax vasana story hindisexstorybhankiनॉनवेज सेक्स स्टोरी रक्षा बंधनAntarvasnasexstory