भाई ने चोदा मुझे छत पर हैप्पी दिवाली बोलकर

loading...

“दीदी मुझे गले लगा लो आज दिवाली है, आज मैं हैप्पी दिवाली बोलकर आपको गले लगाना चाहता हु” मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था की आखिर मेरा भाई मुझे गले लगाने की बात क्यों कर रहा है, मैं जब से जवान हुई आज मैं 22 साल की हु, मुझे कभी भी इसने गले लगाने की बात नहीं की थी पर कल दिवाली पे इसे क्या हो गया था की मुझे अपनी बाहों में समेटना चाह रहा था. मुझे लगा की आजकल जवान बदल गया है. होस्टल में रहता है और मैं गांव में रहती हु तो हो सकता है की आजकल का ट्रेंड हो. इसलिए मैं रोकी नहीं और गले लगा ली.

loading...

रात के आठ बज रहे थे, निचे पूजा पाठ कर के, मैं भाई बहन छत पर दीपक जलाने आ गए थे, मेरा भाई किशोर मेरे से १ साल छोटा है. दोनों मिल कर दिवाली के लिए दिये जला रहे थे, जब मैं बैठ कर दिये की बत्तियां ठीक कर रही थी, उस समय मेरे चोली के (मैं लहंगा और चोली पहनी थी) ऊपर से मेरी चूचियां मेरे घुटनो से दब रहा था इस वजह से मेरी चुइयाँ चोली से बाहर आ रही थी. मेरी चूचियां ऐसे भी बड़ी बड़ी है और उसपर से मेरी चोली का गला ज्यादा कटा होने की वजह से मेरी आधी चूचियां बाहर आ गई थी. शायद वही देखकर उसका मन ख़राब हो गया था और मुझे पाने का प्रयत्न करने लगा.

वो मेरे गदराये हुए बदन को देखकर अपने आप पे काबू नहीं रख पाया और उसकी साँसे तेज तेज चलने लगी, मैंने पूछा की किशोर क्या हुआ है. तो बोला की दीदी पिछले साल जब मैं दिवाली पे नहीं आ सका था तब मैंने आपको बहूत ही ज्यादा मिस किया, और आज आप बहूत ही सुन्दर लग रही हो, आपसे इतना सुन्दर इस दुनिया में कोई नहीं है. मेरी दीदी जहा जाएगी वह पर खुशियां ही खुशियां होगी. दीदी आज प्लीज मुझे आप गले से लगा लो. मैं अवाक् रह गई. फिर सोची की चलो आजकल तो गले लगाना बड़ा आम बात है इसमें शायद कोई बुराई भी नहीं है. मैंने अपनी बाजु फैला दी, और वो एक आंधी के तरह आया और मेरे सीने से चीपक गया, मेरे शरीर में भी एक नया एहसास हुआ और मैंने भी उसको जकड लिया.

किशोर मेरे पीठ को सहलाते हुए, आई लव यू दीदी, हैप्पी दिवाली कहा मैंने भी उसको विश की, पर उसकी जो पकड़ थी, वो कुछ और आगे बढ़ गई, वो मुझे अपने से समा लेना चाहता था, छत पर उस समय एक ही दीपक जलाई थी, विजली नहीं थी. माँ और पाप निचे थे, उन्होंने आवाज लगाया की बेटा कितना टाइम लगेगा, मेरे भाई बोल दिया की पापा जी अभी आधे घंटे लगेंगे, उन्होंने कहा की ठीक है, मैं और तुम्हारी मम्मी अभी गुप्ता जी के यहाँ से आ रहे है उनका गिफ्ट देके. दोस्तों इतना सुनते ही, मेरा भाई उस दीपक को बुझा दिया, ताकि दूर से किसी को दिखई नहीं दे, और मुझे फिर से जोर से बाहो में भर लिया, वो पानी के टंकी के पास ले गया, वह एक और दिवार था और दूसरे और टंकी, यानि की किसी को भी दिखई नहीं दे सकता था

और वो मुझे अपने और खीचते हुए कहा, दीदी आई रियली लव यू, मैंने कहा किशोर ये सब ठीक नहीं है. दिवाली का विश ऐसा भी नहीं होता है. किशोर बोला हां मुझे पता है ऐसा नहीं होता है पर प्लीज मुझे मत रोको, वो मेरी चूतड़ को सहलाने लगा, दोस्तों आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है. मैंने भी अपने आप को रोक नहीं सकी और मैंने भी उसको वासना भरी बाँहों में उसको जकड लिया, वो मेरी होठ को चूसने लगा, उसकी साँसे तेज हो चुकी थी, मैं भी गरम हो रही थी. मैंने भी उसके बाल पकडे और उसके होठ को चूसने लगी. वो मेरी चूचियों को ऊपर से ही दबाने लगा. मैंने पीछे से डोरी खोल दी. ब्लाउज ढीला हो गया, मैंने कहा हाथ नीच डाल लो. उसने मेरे चूच को दबाना शुरू कर दिया, उसके हाथ में मेरी चूचियां नहीं आ रही थी. वो ऊपर से जितना पकड़ पा रहा था वो पकड़ रहा था.

मैंने कहा आई लव यू, किशोर हैप्पी दिवाली, किशोर बोला काश ऐसी दिवाली हमेशा आये. और वो मुझे घुमा दिया, और मेरी गांड पर वो लैंड रगड़ने लगा. मैंने पीछे से उसके सर को पकड़ ली. वो मेरी चूचियों की पीछे से पकड़ लिया और जोर जोर से दबाने लगा. मैं बुरी तरह से वासना में भर गई थी. उसने मेरी लहंगा को निचे से ऊपर कर दिया, मुझे उसने घोड़ी बना दिया. और फिर उसने मेरी पेंटी को थोड़ा सरका दिया, और फिर अपने लंड पर थूक लगा कर, मेरी चूत के ऊपर रखा, पर अँधेरे की वजह से उसको ठीक से दिखाई नहीं दे रहा था उसके उसका धक्का बेकार गया. उसके बाद मैंने उसका लंड पकड़ कर, अपने चूत पे सेट की, और मैंने कहा अब डालो. और उसने एक जोर से धक्का दिया. और उसका पूरा लंड मेरी चूत के अंदर समा गया. अब वो मेरी चूतड़ पे थापड़ मार मार कर अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा.

दोस्तों उसका लंड बहूत ही ज्यादा मोटा था इसलिए मेरी चूत काफी टाइट थी. तो दर्द भी हो रहा था. और पर मुझे बहूत मजा आ रहा था. मैंने भी उसको मदद करने लगी. मैंने भी पीछे से धक्के दे रही थी और वो दोनों हाथो से फिर चूचियों को पकड़ लिया और मुझे चोदने लगा. मैं बहूत ही कामुक हो गई थी. मेरे मुह से सिर्फ आह निकल रही थी.

दोस्तों करीब दस मिनट में भी उसने मेरा हालात ख़राब कर दिया, और वो मेरे चूत में ही अपना सारा वीर्य डाल दिया. मैंने भी निढाल हो गई और वो भी निढाल हो गया. फिर उसने मुझे गले लगाया और हैप्पी दिवाली बोला. तभी निचे दरवाजा खुलने की आवाज आई और फिर हम दोनों दीपक जलाने लग गए.

दोस्तों दिन भर तो बस तिरछी नजर से ही काम चला क्यों की आज घर में दिन भर छुट्टी होने की वजह से मेहमान आये था इसलिए कुछ ज्यादा नहीं हो पाया था पर आशा करती हु की आज रात को फिर कुछ ना कुछ होगा. पर जो कल रात को हुआ था बहूत ही सेक्सी था. काश मेरा भाई मुझे ऐसा ही प्यार करता रहे.

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


घर मे सभी लोग चुदाई का जश्न नंगी होकर मनाएristo me sex kahaniMene aunty se shadi kimami sleeper bus sex story in hindiलड़की की चूड में से मूतsexbhabhi story in marathiAntarvasna.sasur son in-lawचुत में कड़क लौड़ा फासापापा ने चोद डालाxxx devar रात्रि marathi storiesMarathi nagdi mami nonveg storyHindi sex stories ruमैँ भरी जवानी मेँ चुद गईMene mom ko bra shipping karaya apne pasand kaदेवर भाभी सेक्सी कहानियां हिंदी में नॉनवेज XXXस्टोरी हनीमून माँ बेटेJath ne sil tori kamuktaAnterwasna.com ma ke gand me hiroti hindi sex storyXxx sex story condom Mami Chachi sirfसास दामाद मा बेटे ओपेन सैकसी बिडीओTeen din tak ghodi bana ke chodaबहन को दोस्तों ने चोदागरमागरम सेक्सxxx hindi kahani maa bete ki rajai me bukhar meristo me sex kahaniघरमें नोकर ने सबको चोदाmummy and bhan boua ki papa bhi ki chodie boor ki chodie hinde sex storymere pti aur jeth ka lund meri chut m -2 story in hindiमेरी सती सावित्री रंडी भाभी ने कई लंडपापा के लड से चिपकी काहानीMa ko daru pila ke chut mara kahani sagrat mom sexkhaniनामरद.सेकसी कहनीमा बेटासास दामाद भाईबहन ओपेन सेकसी बिडीओभाई बहन सास दमाद ओपेन सेकसी बिडीओbhaiya ka maine ilaj kiya sex storyमामी डॉटकॉम कथा नॉनवेज स्टोरी Xxx sex story condom Mami Chachi sirfदोस्तों से गांड मरवाईSasurji se sex samandh banne ki kahaniyaपैसे के लिये भाई को पटाकर चुद गईमामीको चोदने का मौका विडियोभाई बहन सास दमाद ओपेन सेकसी बिडीओचुची बडी है संगीता कादेसी माँ बेटा सेक्स स्टोरी इन हिंदीपापा से सेक्स करती हूं क्या सहीसेक्स कहानी भाईपैसे के लिये भाई को पटाकर चुद गईsex oldman girl in hindi nonveg storyसेस्क कहानीमराठीपति की बेइज्जती करके चुदीbhai ki shadi main married behan sex hindi sex stories .comमा बेटासास दामाद भाईबहन ओपेन सेकसी बिडीओपापा ने चोद डालामैंने अपनी मम्मी को चुदते हुए देखा फूफा से – 2 : सच्ची सेक्स कहानीDaru peeke maa beti ki ek sath chudai storypadoshan aunty ki gand mari storeeninvegsexstoriदोस्त पती चुदाई कहाणीमा बेटासास दामाद भाईबहन ओपेन सेकसी बिडीओनशे मे परी की गांड ठोकी storiesagar.jbarjast.bara.sal.ki.ladki.ki.chode..to.khoon.niklegaपेटीकोट में panty kamukta kahaniबहन की चूत के बदले चूतभाई बहन सास दामाद ओपेन सेकसी बिडीओMom n makup kiya fir sex k liye mujhe patayanon veg 3x sex story in hindixxx.chut fadu kahani jabrjastMa ko daru pila ke chut mara kahani पति ने मुझे चुदवायापहली बार बुर कैसे पेलते है बताओ