Jija Sali Sex Story : होली में जीजू ने चूत में रंग लगाकर लम्बे लौड़े से चोदा

loading...

Jija Sali Sex Story : सभी लंड वाले मर्दों के मोटे लंड पर किस करते हुए और सभी खूबसूरत जवान चूत वाली रानियों की चूत को चाटते हुए सभी का मैं स्वागत करती हूँ। अपनी कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी मित्रो तक भेज रही हूँ। ये मेरी पहली स्टोरी है। इसे पढकर आप लोगो को मजा जरुर आएगा, ये गांरटी से कहूंगी।

loading...

मेरा नाम मुग्धा है। मैं बाराबंकी की रहने वाली हूँ। मेरे जीजू जी मुझे कुछ दिन से बराबर काल कर रहे थे। वो होली पर मेरी चूत चोदने को मांग रहे थे पर मैं मना कर देती थी। ऐसा नही है की मैं चुदना नही चाहती थी। मैं भी अंदर से जीजू का रसीला लौड़ा खाना चाहती थी पर अपनी दीदी से बहुत डरती थी। मेरी दीदी इन सब मामले में बहुत स्ट्रिक्ट थी। एक बार उनकी गैर मौजूदगी में मैं अपने जीजू के साथ पिक्चर देखने चली गयी थी। मेरी दीदी ने मुझे बहुत डाटा था। मेरे जीजू जी काफी ठरकी मर्द थे और बाहर की औरतो को भी मौका मिलते ही चोद लिया करते थे। मेरी दीदी इस बात को अच्छी तरह से जानती थी। इसलिए वो हमेशा उन पर नजर रखती थी। फिर से मेरे जीजू का काल आ गया।

“साली साहिबा!! बोलो क्या सोचा तुमने??” वो फोन पर पूछने लगे

“जीजू!! कैसे आप मेरी चूत मारोगे?? दीदी तो हमेशा घर में ही रहती है” मैंने कहा

“कुछ तो जुगाड़ करना होगा। होली का बहाना बनाकर तेरी चूत चोद लूँगा” जीजू ने अपना प्लान बताया

फिर शुक्रवार वाले दिन होली थी। जीजू बृहस्पतिवार को ही घर आ गये। मेरी दीदी 10 दिन पहले ही हमारे घर आ गयी थी। अगले दिन होली का खेल होने लगा। जीजू का हक होता है की साली को रंग लगाये। जीजू ने सुबह होते ही मुझे रंग लगाना शुरू कर दिया। मेरी दीदी को कोई शक नही हुआ। फिर जीजू मेरा हाथ दबाने लगे। मैं उनका इशारा समझ रही थी। वो मुझे आँखों से इशारा करके छत वाले कमरे में जाने को कहने लगे। मैं समझ गयी।

“नही जीजू!! प्लीस मुझे बैगनी वाला रंग मत लगाना!!” मैं कहने लगी

मैं डरने की एक्टिंग करने लगी। मैंने पिंक कलर का एक पुराना सलवार कुर्ता पहना था। मैं छत वाले कमरे में जाने लगी। जीजू मेरे पीछे पीछे उपर आ गये। यही पर चुदाई का प्लान था उनका। तभी मेरी दीदी की पुरानी फ्रेंड आ गयी। दीदी उनके साथ बात करने में बीसी हो गयी। अब जीजू के पास 20 30 मिनट आराम से थे। छत वाले कमरे में जीजू आये और मुझे पकड़ के किस करने लगे। आपको बता दूँ की मैं एक पतली दुबली छरहरे बदन वाली सेक्सी लड़की थी। मेरी चूत का दरवाजा अभी तक बंद था।

किसी ने नही खोला था। आज तक किसी का लंड मेरी बुर में नही गया था। जीजू आज मेरी सील तोड़कर मुझे चोदने वाले थे। मेरा फिगर 32 28 34 का था। मेरे दूध छोटे छोटे थे। पर मैं बहुत सेक्सी और गोरी लड़की थी। जीजू ने मेरी कमर में हाथ डाल दिया और खड़े खड़े ही मुझे सीने से लगा लिया और खूब चूसा। मैं कुछ बोलना चाहती थी पर वो मेरे होठो को पी रहे थे। इसलिए मैं कुछ बोल नही सकी। खड़े खड़े उन्होंने मुझे सीने से चिपका लिया था और खूब गालो पर चुम्मा लिया। मेरे कुर्ते के उपर से उन्होंने चुन्नी हटा दी और मेरे दूध दबाने लगे। मेरे दूध काफी छोटे थे पर आज तक किसी ने इनको मुंह में लेकर नही चूसा था। मेरे कुर्ते के उपर से जीजू मेरी चूचियां दबाने लगे। मैं “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ ह उ उ उ….. आआआआहहहहहहह ….”” करने लगी।

“दीदी को शक तो नही होगा जीजू!!” मैंने कहा

“नही!! चल जल्दी से कपड़े उतार!” जीजू बोले

“ओके! उतारती हूँ” मैंने बोली

उसके बाद जीजू भी कपड़े उतारने लगे। मैं भी उतारने लगी। उन्होंने मुझे बेड पर लिटा दिया। जीजू को मस्ती चढ़ गयी। उन्होंने हाथ में बैंगनी रंग घोलकर मेरे मुंह पर चुपड दिया। मैं किसी बंदरिया जैसी दिख रही थी। मेरे गोरे गोरे चेहरे पर जीजू ने बैगनी रंग लगा दिया था। मेरे हाथ और कंधे पर भी लगा दिया था। मैं नाराज हो गयी थी।

“जीजू!! ये आपने क्या किया?? बैगनी रंग तो जल्दी छूटता भी नही है??” मैं मुंह फुलाकर बोली

“साली साहिबा!! मैं तो तेरी चूत में भी आज रंग लगाऊंगा और असली वाली होली खेलूँगा” जीजू हसंकर बोले

मैंने भी उसके मुंह पर डार्क लाल रंग लगाकर उनको भूत बना दिया। वो भी किसी बन्दर की तरह दिख रहे थे। उसके बाद वो मेरे होठ चूसने लगे। मेरे लिप्स मल्लिका शेहरावत जैसे थे। जिसे उन्होंने काट काट कर चूसा। फिर मेरी 32” की छोटी साइज वाली चूचियों को हाथ से मसलने लगे। मैं चुदने को प्यासी होने लगी। “ओहह्ह्ह….अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” करने लगी। जीजू ने नर्म नर्म चूची को दबा दबाकर मसल डाला। नोच लिया खूब। फिर मुंह में लेकर मेरे आम चूसने लगे। मैं आहे भरने लगी। कितने दिन से मैं भी जवानी का मजा लूटना चाहती थी। मैं भी दीदी की तरह चुदाकर यौवन का आनन्द लूटना चाहती थी। जीजू मेरे छोटे छोटे मुसम्मी को लेकर चूस रहे थे।

लगता था की खा ही जाएँगे। फ्रेंड्स मेरी बूब्स बहुत ही चीकने थे और संगमर्मर जैसे सफ़ेद थे। पर मेरी निपल्स चोकलेट कलर की थी। जीजू जी मेरी निपल्स को खींच खींचकर पी रहे थे। मैं पूरी तरह से नंगी थी। मैं अपनी पेंटी भी उतार चुकी थी। मेरी चूत भी अब ज्वालामुखी की तरह आग उगल रही थी। मेरी चूत भी अब जीजू का लंड मांग रही थी। मैं हाथ लगाकर अपनी चूत को जल्दी जल्दी सहला रही थी। चूत के बड़े से दाने को बार बार हिला रही थी। मुझे बड़ा आनन्द मिल रहा था। मेरे सगे जीजू ने कुछ देर मेरे दोनों बूब्स पीये। फिर मेरे पेट को चाटने लगे। छरहरा होने की वजह से मेरा पेट भी काफी पतला और छरहरा था। मेरे जीजू हाथ से सहलाने ल। फिर जीभ लगाकर चाटने लगे। फिर मेरी नाभि में जीभ घुसाने लगे। मैं “आआआहहह…..ईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” “ करने लगी।

“होली के दिन पर आज मुझे आप कसके चोद लीजिये जीजू जी!!” मैं कहने लगी

वो मेरी नाभि चूसने लगी। मैं कामोत्तेजित होने लगी। यौवन मेरे उपर हावी हो गया था। वो कुछ देर में नाभि में ऊँगली करने लगे। मेरी कमर को हाथ लगाकर सहलाने लगे। फिर मेरे पैर उन्होंने खुलवा दिए। मेरी चिकनी चूत का दर्शन करने लगे। फिर उनके उपर हवस चढ़ गयी। जीजू ने हाथ में लाल वाला रंग घोला और मेरी चूत पर मल दिया।

“ओह्ह्ह जीजू!! आप भी ना!!” मैं कहने लगी

उन्होंने मेरी पूरी चूत को डार्क लाल रंग से रंग डाला। फिर मुंह लगाकर मेरी बुर पीने लगे। मैं उनको पकड़कर “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ…..” करने लगी। मुझे बहुत अधिक नशा मिल रहा था। वो तो पीते ही चले गये। मेरी चूत में आज उनको सब कुछ मिल गया था। आज मेरी चूत में जीजू को रब दिखने लगा था। काफी देर चाटते रहे। मेरे चूत के दाने को दांत में लेकर काट लिया।

“….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी…जीजू!! you are fucking hot” मैं कमर उठाते हुए बोली

उन्होंने 8 10 मिनट मेरी बुर चाटी और चूत के दाने को चबा चबाकर जख्मी कर दिया। फिर अपने 8” लौड़े को हाथ में लेकर फेटने लगे। कुछ देर मुठ देते रहे और अच्छे से खड़ा कर दिया। मेरी चूत में लंड रखा और धमाक से धक्का देकर अंदर डाल दिया। मेरी तो गांड फट गयी। फिर जीजू फटा फट मुझे पेलने लगे। मैं उनके सामने पूरी तरह से नंगी थी। वो जल्दी जल्दी चोदन करने लगे। मैं स्वर्गलोक में चली गयी। आज मेरी भी कितने सालो की चुदास शांत हो रही थी। जीजू ने धक्के मार मारके पूरा 8” लंड मेरी चूत की गली में पंहुचा दिया। मैं पैर खोलकर मरा रही थी। मेरी दोनों चूचियां उपर नीचे जल्दी जल्दी हिल रही थी। जीजू जल्दी जल्दी मेरी बुर चोद रहे थे।

“ohh!! yes yes मजा आ रहा है जीजू !!…ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी…अंदर तक लंड घुसाकर चोदो” मैं कामवासना में उत्तेजित होकर बडबडाते हुए बोली

अब जीजू के उपर असली कामदेव सवार हो गया था। वो और जल्दी जल्दी कमर हिला हिलाकर मुझे fuck करने लगे। मेरी दोनों टांगो को उन्होंने उठा लिया और खूब चोदा। फिर जीजू हाफ हांफ कर अपना माल अंदर ही छोड़ दिए। मैं चुद गयी थी। तभी मेरी दीदी की आवाज सुनाई दी। जीजू ने खिड़की से झांककर देका तो उनकी सहेली जा रही थी।

“साली साहिबा!! जल्दी से कपड़े पहन ले!! तेरी दीदी के गेस्ट जा रहे है। वो उपर आ सकती है। बहुत शक्की औरत है वो” जीजू डरकर बोले

मैं जल्दी जल्दी ब्रा पेंटी पहनी। फिर सलवार कुर्ता पहना। जीजू अपनी शर्ट पेंट पहनकर नीचे भाग गये। मैं चुद गयी। दीदी को कुछ पता नही चला। फिर दोपहर होने पर सब लोग बाथरूम में जाकर नहा लिए। शाम को बड़ी चहल पहल थी। अगले दिन मेरे जीजू ने फिर से मुझे चोदने का प्लान बनाया।

“अजी सुनो!! मैं अपनी साली को लेकर मार्किट जा रहा हूँ। तुम्हारे लिए एक अच्छी सी साड़ी लाऊंगा!!” मेरे जीजू मेरी दीदी से बोले

उनको कोई शक नही हुआ। साड़ी का नाम सुनते ही वो मान गयी और मुझे जीजू के साथ मार्किट जाने की परमीशन दे दी। मैं जीजू के साथ कार में बैठ ली। जीजू कार ड्राइव करने लगे। फिर वो मुझे पास के माल में ले गये। वहां पर उन्होंने मेरी लिए 3 बढ़िया ड्रेस खरीदी। जींस टॉप भी खरीद दिया। शोपिंग करते करते जीजू मुझे टच कर रहे थे। मैं भी उनका साथ निभा रही थी। वो मेरा हाथ कसके दबा देते थे। वो माल बहुत बड़ा था। ड्रेस चूस करने के बहाने उन्होंने मुझे गांड भी कई बार दबा दी।

“साली साहिबा!!! एक बार फिर से ऐयासी हो जाए??” वो पूछने लगे

“पर कहाँ पर??” मैंने पूछा

“ट्रायल रूम में। वहां पर कैमरा भी नही होता” जीजू बोले

उस शोपिंग माल में बहुत से ट्रायल रूम थे जिसमें कस्टमर ड्रेस पहन कर चेक करते थे। जीजू मेरे हाथ पकड़े और लेकर एक ट्रायल रूम में घुस गये। अंदर से दरवाजा बंद कर लिए। उसके बाद शुरू हो गये। फिर से वो जानवर बनकर मुझे किस करने लगे। मैं भी करने लगे। आज मैं लाल रंग की टॉप और जींस पहनी थी। वो मेरे टॉप के उपर से मेरी छोटी छोटी मुसम्मी मसलने लगे। मुझे फिर से गर्म कर दिया। उसके बाद वो भी कपड़े उतारने लगे। मैं भी उतारने लगी।

“साली साहिबा!! होली के त्यौहार में अगर लंड चुस्वाने को न मिले तो मजा नही आता है” वो कहने लगी

मैं उनका संकेत समझ गई। जीजू अपना अंडरवियर उतार डाले। मैंने उनका 8” का लंड पकड़कर जल्दी जल्दी फेटने लगी। ट्रायल रूम में मैं नीचे बैठ गयी फर्श पर और अच्छे से फेटने लगी। जीजू खड़े होकर “हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ…ऊँ…ऊँ सी सी सी… हा हा.. ओ हो हो….” करने लगे। उनको बहुत अधिक आनन्द मिल रहा था। मैं खूब मुठ दे देकर उनके असलहे को फेट रही थी। फिर जीभ लगाकर चाटने लगी। जीजू का लंड अपना रस छोड़ने लगा। मैं मुंह लगाकर उनका रस चाट गयी। फिर लंड फेट फेटकर स्टील बना दी और मुंह में लेकर चूसने लगी।

“चूस मेरी रानी!! …..ईईईई….ओह्ह्ह्….और मेहनत से चूस!! मजा आ रहा है!!” जीजू आँख बंदकर बोले

मैं उनके 8” लंड को गले तक लेकर चूस डाली। जीजू को खूब मजा दिलवा दिया। उसके बाद उन्होंने मुझे ट्रायल रूम के फर्श पर लिटा दिया और 15 मिनट मेरी बुर चाटी। चूस चूसकर पानी निकाल दिया। जीजू मेरी चूत में ऊँगली डाल डालकर मुझे उत्तेजित करने लगे। मैं भी मजे लेकर करवा रही थी।

“साली साहिबा!! अब तुम घोड़ी बना जाओ!!” जीजू बोले

मैं ट्रायल रूम में ही घोड़ी बन गयी। जीजू को मेरी गर्म चिकनी चूत की मीठी मीठी सुगंध आ रही थी। वो पीछे से चूत चाटने लगे। मेरी फुद्दी बड़ी ही सेक्सी दिख रही थी। जीजू ने पीछे से भी मुझे बहुत सताया। मुझे खूब ऊँगली की। उसके बाद फ्रेंड्स उनका अगला शिकार मेरे चुतड बन गये। मेरी गांड को हाथ लगा लगाकर जीजू किस करने लगे। मुझे सुरसुरी होने लगी। जीजू मेरी गांड को हाथ से दबा दबाकर मजा लेने लगे। फिर मेरे सफ़ेद गद्देदार चूतड़ को दांत लगाकर काटने लगे।

“ओह्ह जीजू!! आप भी कमाल है!” मैं कह रही थी

फिर कुछ देर पीछे से मेरी चूत चाटते रहे। अपना 8” का मोटा लंड अंदर डाल दिए। मेरी कमर पकड़ कर जीजू मुझे चोदने लगे। मैं “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ…ऊँ…ऊँ….” करने लगी। जीजू जल्दी जल्दी चोदने लगे। मैं तो पागल हुई जा रही थी। जीजू के धक्के तो मेरा बुरा हाल बना रहे थे। मैं अच्छी चुदक्कड लड़की की तरह घोड़ी बनी हुई थी। खूब चुदवाई मैं जीजू से। वो बार बार मेरे सेक्सी चूतड़ो को सह सहलाकर मजा ले रहे थे। उन्होंने ट्रायल रूम में ही मेरे साथ सुहागरात मना डाली।

उसके बाद लंड मेरी चूत के छेद से बाहर निकाल लिया। मैं घोड़ी बनी रही क्यूंकि मैं जानती थी की अभी पिक्चर बाकी है। जीजू फिर से मेरी योनी का कामुक रसीला छेद चाटने लगे। वो जीभ जैसे जैसे फिराते थे मुझे शुरुर सा चढ़ जाता था। मैं मचल रही थी। मुझे वासना का खुमार चढ़ता ही जा रहा था। मर्दों को औरत की बुर से इतना प्यार, इतना लगाव क्यों होता है मैं घोड़ी बने बने सोच रही थी। जीजू की वासना तो खत्म होने का नाम ही नही ले रही थी। मेरी चूत का छेद उनको आज बेहद प्रिय लग रहा था। मुंह लगाकर ऐसे पी रहे थे जैसे उसमे आम का मीठा रस भरा हो। मैं तो लम्बी लम्बी सिस्कारियां लेकर “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ ह उ उ उ….. आआआआहहहहहहह ….” कर रही थी। मेरी मादक जोशीली सिस्कारियां पूरे ट्रायल रूम में गूंज रही थी।

“साली साहिबा!! अब तेरी गांड की बारी है” जीजू बोले और अब मेरी गांड को चाटने लगे। उसमें थूक दिए और मस्ती से चाटने लगे। अब बार फिर से मैं पागल होने लगी। फिर जीजू ने 7 8 मिनट मेरी गांड मुंह लगाकर पी ली। फिर उसमे अपना 8” मोटा लंड घुसेड़ दिये और जल्दी जल्दी चोदने लगे। मैं दर्द में कराहने लगी। मैं रोने लगी और बड़े बड़े मोटे मोटे आशू आँख से बहने लगा।

“जीजू!! प्लीस मुझे चोद दो!! …अई..अई. .अई… उ उ—मेरी गांड मत मारो!! प्लीस मुझे जाने दो” मैं रो रोकर कहने लगी

“मादरजात!! तू मेरी साली है। साली आधी घरवाली होती है। तेरी गांड तो मैं चोदकर रहूँगा” जीजू वहशी दरिंदा बनकर बोले

और काफी देर मेरी गांड मारते रहे। उनके लंड का पूरा टोपा पूरा का पूरा मेरी गांड में घुसकर कोहराम मचा रहा था। मैं दर्द में “ओहह्ह्ह….अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” चिल्ला रही थी। जीजू तो मजे लूट रहे थे। आखिर वो बड़े देर बाद झड़ गए। मेरी कसी गांड में ही माल गिरा दिए। फिर लंड बहार निकाल लिए। अब जाकर मुझे चैन मिला। मुझे राहत मिली। फिर दोनों ने जल्दी जल्दी कपड़े पहने और शोपिंग माल के ट्रायल रूम से बाहर आ गये। आज जीजू ने मेरी चूत और गांड दोनों मार ली थी। मैं लंगड़ा लंगड़ा कर चल रही थी। जीजू ने मुझे कार में बिठाया फिर एक दवा की दूकान से बदन दर्द की दवा खरीदी। जीजू मुझे एक अच्छे रेस्टोरेंट ले गये, जहाँ पर उन्होंने एक गर्म गिलास दूध आर्डर किया मेरे लिए। मैं पी लिया। फिर उनके साथ घर आ गयी।

मेरे दर्द को ठीक होने में 4 दिन लग गये। उसके बाद जीजू ने फिर से मेरी चूत मारी और गांड को भी नही बक्शा। आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पढ़ते रहना। आप स्टोरी को शेयर भी करना।

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


प्रधान की लडकी की चोदाई की कहनीभाभी जी ने रात में लिए दो लंडsex oldman girl in hindi nonveg storyपति के सामने अनजान मर्द से चुदवा लीवहीनी देवर सेक्सी कहानी मराठीमेरी चुत फटीचचेरी बहन की chut Ko chotaदेवर का लंड चूसकर चुदना हैचुत पर मेहंदी लगा कर चुदाई कीSex ki khani bua kai bati kai sath mota lund ssi pailaदूध ऑफ़ भाभी विडो इन सेक्स स्टोरीजTichar ki xxx chudai sahiry and kahniभोसड़े की चुदाईpainty bra dekh mother in law ki honeymoon chudai storyMa bhen mere samne paraye med se chudi hindi khaniमाँ को चोदा सर्दी मेंgurumastram.netmera friend ny porn storyगर्लफ्रेंड सेक्सी डॉट कॉमpahli सुहागरात jamidar ne karj n chukane ki हिंदी storyसासुमाँ को दमाद ने चोद सेक्सी चुदाईभोसड़े की चुदाईBagiche k jhadiyo me meri chudaiसास दामाद मा बेटे ओपेन सैकसी बिडीओमामीको चोदने का मौका विडियोमाँ नेँ मेरा लण्ड लिया storiesशहरों की चुदाई कहानीदेसी विलेज सेक्स स्टोरीज मेरी बहन की गदरायी हुई जवानीbua sex kahaniyabibi saas aur saali ke sath honeymoon kiyasex oldman girl in hindi nonveg storyमैंने नई पंतय ब्रा ली पापा के साथससुर के साथ गंदी कहानीसुहागरात.nonvg.sotryरूम मालकिन के बेटी को चोदा रूम में ठंडीमराठी पऱनय कहानीSixy shiway Marathi zavazavi kathaShadi se pahle sasurji se manayi suhagratApni bivi ke kahne par uski bahen ko ma bnaya hindi storiचुदाई का जश्नमैडम स्टूडेंट से चुदवायाshadi m daru pila k chodaiलड़की की चूड में से मूतभांजी को गोद में बिठा के लैंड गण्ड में घुसा दिया स्टोरीसासुमाँ को दमाद ने चोद सेक्सी चुदाईलाहान मुलगा हाता नि Xxx करतानामम्मी ने बेटी को घर में बियर पिलायानये साल पर चुदाईमाँ को मोबाइल से फंसा के चोदा देशी टीन क्यूट कमसिन लड़की की पहली चोदाईपड़ोसी वाले चाचा से चुदीsasur ka land storiदेसी माँ बेटा सेक्स स्टोरी इन हिंदीहिदी सेकसी कहानी गाड माराचचेरी बहन की chut Ko chotaहिंदी माँ बाप कि चुदाई बेटे ने देखी सेक्स कहाणीTichar ki xxx chudai sahiry and kahniसेक्स कहानि दोस्त कि बिबि ने चोदनेपर मजबुर कियाsexyaurat ki pahchanभाभी को बांध antarvasnachachi kochoda kondom chadake chote batije ne xxxमा बेटासास दामाद भाईबहन ओपेन सेकसी बिडीओक्सनक्सक्स स्टोरीसंभोग कथासेक्स कहानि दोस्त कि बिबि ने चोदनेपर मजबुर कियासास दामाद भाई बहन ओपेन सेकसी बिडीओ हिनदीपति के सामने अनजान मर्द से चुदवा लीपत्नी की सेक्सी कहानीnurma ki cudai storychachari badi behan ki chut ki seal todiमाँ की जबरदस्ती चुदाई की सगे बेटे ने हिंदी कहानीnon veg 3x sex story in hindiचुत में कड़क लौड़ा फासाकुत्ते ने चौदा भाभी कोSecx kahani sasu k pream kahani damad k sathdubai me bete ke sath hanimun xxx kahani बीबी बनी दिल्ली की रन्डी सेक्सी कहानीबहन के साथ ओरल सेकसदोस्त के साथ मुठ मारभाई-बहन की चुदाई की कहानीmastrni ki chuday mare shthhindisex b f videoanat