loading...

मौसी की लड़की को मेज से बांधकर उसकी बुर बेरहमी से चोदी

loading...

 

हाय दोस्तों, आदर्श कुमार आप सभी का नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत करता है। मैं पिछले कई सालों से नॉन वेज स्टोरी का नियमित पाठक रहा हूँ और मैं रोज इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ हूँ और मजे मारता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं दिल्ली में इस समय रह रहा हूँ।

मैं एक सेक्स एडिक्ट हूँ, ये बात सिर्फ मेरी मौसी की लड़की सोनिया जानती थी। वैसे तो मैं यू पी के सुल्तानपुर जिले का रहने वाला हूँ, पर अभी मैं दिल्ली में एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी कर रहा हूँ। मुझे लड़कियों को मार मार कर और उसको बेड से बेल्ट से बाँध बांधकर चोदना और गांड मारना बहुत पसंद है। पर इस राज के बारे में कम लोग ही जानते है। मेरी इसी आदत के कारण मेरी ३ गर्लफ्रेंड मुझे छोड़ गयी। जब मैंने उनको बेड से नहाथ पैर बांधकर चोदा तो वो मुझसे डरने लगी और मुझे छोडकर चली गयी। मैंने ये सारी बाते अपनी मौसी की लड़की सोनिया को बताई थी। वो मुझे ‘ठरकी अंग्रेज” कहकर बुलाती थी, क्यूंकि इस तरह की चुदाई कोई हिन्दुस्तानी तो करता नही है।

न्यू फ्रेंड्स कालोनी वाले घर पर मेरी मौसी की लड़की सोनिया कुछ दिनों के लिए आई थी। उसका ssc का कोई पेपर था, दिल्ली में और कोई जान पहचान का था नही इसलिए सोनिया मेरे पास आ गयी थी। मैं उसको २ ३ बार चोद चुका था। उसकी गांड भी मार चुका था। सोनिया अच्छी तरह से जानती थी की अगर मैं उसको लेकर भाग जाऊ तो वो सारी जिन्दगी मेरा लम्बा ९ इंच का लंड खाएगी और सारी उम्र ऐश करेगी। पर सबसे दिक्कत की बात थी की मेरी मौसी ने ही मुझे पढाया लिखाया था, अगर मैं उनकी लड़की को लेकर ही भाग जाता तो पूरी बिरादरी में मेरी थू थू हो जाती और फिर मैं कहीं बैठने लायक नही रहता। इसलिए जब भी सोनिया मुझे मिलती थी मैं चुपके चुपके उसको चोद लेता था। जब उसने मुझे फोन करके बताया की वो दिल्ली आ रही है तो उसकी रसीली चूत की तस्वीर मेरे दिमाग में फिर से घूम गयी। ओह्ह्ह्हह्ह….उसकी चूत की खुबसू मेरी नाक में अपने आप आने लगी। शाम को ८ बजे मेरी मौसी की लडकी सोनिया आ गयी। अगले दिन उसका पेपर भी हो गया। वो ४ दिन मेरे घर पर ही रुकने वाली थी। ये सुबह का समय था। आज संडे था, इसलिए आज छुट्टी थी। रोज की तरह आज मैं जरा भी जल्दी में नही था।

“तो कैसा रहा तुम्हारा पेपर ??” मैंने सोनिया से पूछा

loading...

“अच्छा रहा….सायद पास हो जाऊं!!” वो मुस्कुराकर बोली

मैं उसके जिस्म को उपर से नीचे तक देखने लगा। कुछ ही देर में मैंने उसको बाहों में भर लिया और उसके रसीले होठ पीने लगा। वो जान गयी थी की आज इतने साल बाद मैं उसको फिर से चोदूंगा। उसकी चूत मारना मेरे लिए कोई नई बात नही थी। सोनिया ने बड़ा हल्का सा बैंगनी रंग का टॉप पहन रखा था। उसकी जींस में उसकी मस्त गोल मटोल गांड मुझे साफ़ साफ़ दिख रही थी। मेरे हाथ उसके दूध पर अपने आप आ गया। मैं उसे काउच में ले आया और उससे प्यार करने लगा। उफ्फ्फफ्फ्फ़….कितनी मस्त चुदाई की थी उसकी २ साल पहले जब मौसी ने मुझे सोनिया के जन्मदिन पर सुल्तानपुर बुलाया था। छत पर ले जाकर उसकी मस्त चूत मारी थी मैंने। सिर्फ मम्मी मम्मी ही चिल्ला रही थी सोनिया पुरे समय। फिर उसकी गांड भी मजे लेकर मैंने मारी थी। उसकी गांड से तो खून निकल आया था।

जैसे ही मैंने सोनिया को बाहों में भरा पुरानी यादें फिर से ताज़ी हो गयी।

“भाई….क्यों तुम मुझको चोदोगे???’ उसने सर हिलाकर पूछा

“हाँ…..पर इस बार कुछ अलग तरह से!!” मैंने कहा

मैं बड़ी देर तक उसके गाल और होठ चूमता रहा। मेरा लंड मेरी मौसी की जवान चुदने लायक लड़की को देखकर आज फिर से खड़ा हो गया था। सोनिया मेरा हाथ छुडाकर अंदर फ्रिज से बिअर की २ बोतल लाने गयी थी, पर गलती से वो मेरे डार्क रूम में पहुच गयी थी। इसी रूम में मैंने एक ऐसा बेड और मेज, कुर्सियां  बनवा रखी थी, जिसपर चमड़े के पट्टे लगे हुए थे। मैंने इसी कमरे में अपनी ३ गर्लफ्रेंड्स को मेज से बाँध बांधकर चोदा था। आज वो डार्क रूम सोनिया ने देख लिया। इस कमरे में तरह तरह के सामान थे, जैसे लड़कियों के चूतड़ पर मारने वाली छपकी, हथकड़ियाँ, मोटी मोटी रस्सियाँ और तरह तरह के डिलडो और अनेक वाईब्रेटर।

“ओह्ह….तो यहाँ तुम लड़कियों को बाँध बांधकर उनकी चुदाई करते हो!” सोनिया बोली

“सही कहा.. और आज मैं चाहता हूँ की मैं वो सब तुम्हारे साथ करू!!” मैंने कहा

“मैंने ऐसा क्यों करुँगी???” सोनिया बोली

“…क्यूंकि इसमें बहुत मजा मिलता है!! और तुम गर्मा गर्म चुदाई का मजा लेना चाहती हो!!” मैंने कहा

बड़ी मुस्किल से सोनिया इस बॉनडेज चुदाई के लिए तैयार हुई। मैंने उसको पूरी तरह से नंगा कर दिया। उसके ३४” के दूध अपने पूरे गौरव के साथ तने हुए थे। निपल्स तो मुझे बहुत नशीली लग रही थी। उसकी चूत की झाटे अच्छी तरह से साफ़ थी। मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए। मैंने अपनी मौसी की लड़की सोनिया को लेकर अपने घर के डार्क रूम में चला गया। मैं सारी बत्तियां बंद कर दी, सिर्फ लाल बत्तियां जला दी। मेरा लौड़ा भी सोनिया की बुर चोदने को बड़ा बेचैन था। लाल रौशनी में सोनिया का सफ़ेद गोरा जिस्म भी लाल लाल नजर आ रहा था। इतना ही नही मेरा बदन और मोटा लौड़ा भी लाल लाल नजर आ रहा था। मैंने सोनिया के दोनों हाथो को पीछे कर दिया और हथकड़ी लगा दी। मैंने एक बड़ी सी ढाई फुट ऊँची मेज पर बैठ गया और मैंने एक प्लास्टिक की छपकी ले ली।

“आ मेरा लौड़ा चूस सोनिया!!” मैंने उसे इस तरह से आदेश दिया जैसे वो मेरी सेक्स गुलाम हो। मैंने उसके बालों में लगा रबरबैंड खोल दिया और उनके नंगे और चिकने कंधों पर बाल बिखेर दिए। सोनिया इस समय २२ साल की थी और चोदने लायक बहुत मस्त माल थी। मैं मेज पर टेक लगाकर खड़ा हो गया। सोनिया के दोनों हाथ पीछे थे और उनमे हथकड़ी लगी हुई थी। वो किसी चुदासी सेक्स गुलाम कुतिया की तरह कमरे के फर्श पर अपने सफ़ेद घुटनों के बल बैठ गयी और मेरा लौड़ा चूसने लगी। मैं बिलकुल एक शैतान और राक्षस बन गया था। मैंने अपनी मौसी की लड़की सोनिया को कंधे से पकड़ लिया और अपने ९” लम्बे लंड को उसके चेहरे पर पीटने लगा।

मैं उसके चेहरे को लंड से पीट रहा था। वो ललचा रही थी और जल्दी से मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसना चाहती थी, पर मैं अभी खेलने के मूड में था। मैंने अपने लंड को पकड़ लिया और सोनिया के चेहरे पर पीटने लगा और थपकी देने लगा। कुछ देर बाद मैंने उसके मुंह में लौड़ा डाल दिया और वो चूसने लगी। एक सेक्स अडिक्ट होने के कारण मुझे लंड चुस्वाना बहुत ही जादा पसंद था। सोनिया को मैंने ही पहली बार bf दिखाकर लंड चुस्वाना सिखाया था।  वो इस वक़्त मजे से मेरा लंड चूस रही थी। मेरे अंदर का शैतान जाग गया था। मेरे हाथ में एक प्लास्टिक की हल्की छपकी थी। सट से छपकी सोनिया के दाए चुतड पर सट से मार दी। “आह….”.उसके मुंह से निकल गया। वो चिल्लाई। वो फिर से मेरा ९ इंची लंड चूसने लगी। मैं कुछ कुछ देर में उसके मस्त मस्त चुतड में प्लास्टिक की छपकी से उसकी कमर, कुहले और चुतड पर मार देता था।  उसे दर्द हो रहा था, फिर भी वो मुझे मजा देना चाहती थी, इसलिए मार खा रही थी।

वो २५ मिनट तक किसी सेक्स कैदी की तरह अपने हाथ पीछे करके मेरा लंड चूस्ती रही। फिर मैंने उसे एक कुर्सी से बाँध दिया। मैं उसके हाथ खोले, कुर्सी पर उसे नंगी ही बिठा दिया और उसके हाथ एक बार फिर से पीछे बाँध दिए और हथकड़ी लगा दी। सोनिया ठीक मेरे सामने थी। उसके दोनों पैरों को मैंने कुर्सी पर लगी मोती चपड़ के पट्टे से बांध दिया। अब सोनिया चाहकर भी यहाँ से भाग नही सकती थी। मैंने कुछ देर तक उसके होठ चूसे और मजा लिया फिर उसके चेहरे को दोनों हाथ से पकड़ लिया और अपना मोटा लंड फिर से उसके मुंह में डाल दिया और जल्दी जल्दी उसका मुंह चोदने लगा। कुछ देर बाद तो मैंने अपना मोटा लंड उसे गले तक अंदर डाल दिया और निकाला ही नही।

सोनिया को ठसका लग गया, वो साँस नही ले पा रही थी। वो “हूँ…हूँ….” करके लगी क्यूंकि उसको ठसका लग गया था। जब मुझे लगा की कहीं वो मर मरा ना जाए तो मैंने अपना लंड उसके मुंह से बाहर निकाल लिया। तब जाकर वो सास ले पायी। मैंने उसके बड़े बड़े शानदार दूध के निपल्स पर चिमटी लगा दी। चिमटी में बहुत मजबूर स्टील की स्प्रिंग लगी हुई थी, उसके दवाब से सोनिया की निपल्स बड़ी जा रही थी और उसका कचूमर निकला जा रहा था। जब सोनिया रोने लगी और “भैया..ये चिमटी मेरी निपल्स से निकालो!! निकालो!!” कहने लगी तब जाकर मैंने वो स्टील की चिमटीयां निकाली। सोनिया के दूध की निपल्स दबकर पचनी हो गयी थी। मुझे उसे दर्द देने में बहुत जादा मजा आ रहा था। इसी तरह मैं अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड्स को मार मारकर चोदा था, नतीजा ये हुआ की वो मुझसे बहुत डर गयी और ऐसा गायब हुई की आजतक नही दिखाई दी। फिर मैंने एक इलेक्ट्रॉनिक वाईब्रेटर ले लिया और उसे बिजली के प्लग में लगा दिया। बटन दबाते ही वाईब्रेटर आन हो गया और मैंने उसे सोनिया की चूत पर लगा दिया। वो वाईब्रेटर काफी हद तक हम मर्दों की मसाज करके वाली मशीन की तरह था। वाईब्रेटर घूं घू की तेज आवाज करता हुआ थरथरा रहा था। जैसे ही मैंने उसे सोनिया की चूत ले लगाया उसे सनसनी होने लगी। उसकी चूत में भूकंप आने लगा और सोनिया का बदन कांपने लगा। वो अपने हाथ पैर पटकने लगी और “अई…अई….अई……अई, इसस्स्स्स्स्स्स्स् उहह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह…” करके वो चिल्लाने लगी। मैंने एक सेकेंड को भी वाईब्रेटर सोनिया की चूत से नही हटाया और उसे बराबर लागाए रखा।

सोनिया चूत में मचे बवंडर से सनसनाने लगी, अपनी गांड और चुतड कुर्सी से उठाने लगी पर उसके दोनों हाथ पीछे की तरह लोहे की मजबूत हथकड़ी से बंधे हुए थे। उसके दोनों पैर भी लोहे की उस कुर्सी से अच्छे से बंधे हुए थे। सोनिया जहाँ से भाग नही सकती थी। वो केवल “उ उ उ उ ऊऊऊ ….ऊँ..ऊँ…ऊँ अहह्ह्ह्हहसी सी सी सी.. हा हा हा.. ओ हो हो….” करके चिल्ला सकती थी। मैं उसकी चूत में वाईब्रेटर तब तक लगाए रहा जबतक उसकी चूत से माल नही निकलने लगा। “उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ. हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई….अई……भाई…!! आज तो तुमने मुझे जन्नत दिखा दी!!” सोनिया ने काबुल किया। उस १० हजार के रूपए के वाईब्रेटर ने अपना कमाल दिखाया। सोनिया को बहुत नशीली उतेज्जना होने लगी।

बार बार उसकी गांड, जांधे और घुटने खुलते और बंद हो जाते, वो बार कुर्सी से उपर उठ जाती और बार बार हा हा ….आ आ करके चिल्ला रही थी, पर वो किसी भी सुरत में भाग नही सकती थी। कुछ देर बाद वाईब्रेटर की थरथराहट और घू घू से सोनिया की चूत से पानी पिचकारी की तरह निकलने लगा और निकलता ही रहा। मुझे ये देखकर बहुत सुख मिला। कोई आधा लिटर पानी सोनिया के भोसड़े से निकला और नीचे फर्श पर जा गिरा। मैंने वाईब्रेटर को हटा दिया और सोनिया की चूत में अपना मुंह लगा दिया और उसकी बुर पीने लगा ।

“अई…अई….अई……अई, इसस्स्स्स्स्स्स्स् उहह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह….आदर्श भैया आज तो आपने मुझे जन्नत दिखा दी!!” सोनिया बोली

“…….चोदोदोदो…..मुझे और कसकर चोदोदो दो दो दो आदर्श भैया!!” सोनिया बोली

मैं हँसने लगा। मैंने उसके बंधन खोल दिए और उसे एक मेज पर खड़ा करके बाँध दिया। सोनिया मेज पर अपने मम्मे रखकर लेट गयी। हरबार की तरह उसके दोनों हाथ मैंने पीछे करके हथकड़ी से बाँध दिए और मेज के दोनों पांवो पर उसके पैर बाँध दिए। अब सोनिया का पिछवाडा और उसकी गांड और चूत ठीक मेरे सामने थी। वो अपने दोनों ३४” के मस्त मस्त दूध को लेकर मेज पर लेती हुई थी जबकि उसके दोनों पैर जमींन पर थे और लोहे की भारी मेज से चमड़े की मोटे मोटे पट्टे से बंधे थे।

मैंने हाथ में २ मोटे काले रंग के काफी मोटे डिलडो हाथ में ले लिए और और एक उसकी गांड में डाल दिया। वो रो पड़ी, पर उसे मजा बहुत आया। दूसरा डिलडो मैंने उसकी चूत में डाल दिया और हाथ से डिलडो अंदर बाहर करने लगा। बाप रे!! इस तरह से सोनिया की चुदाई आजतक किसी ने नही की थी। मैं जल्दी जल्दी उस काले मोटे डिलडो को उनकी चूत में अंदर डालने लगा और फेटने लगा। वो तडप गयी। दूसरा डिलडो उसकी गांड में पहले से मौजूद था। कुछ देर बाद मैंने चूत से डिलडो निकाल लिया और अपना ९ इंची लंड सोनिया के भोसड़े में डाल दिया और उसको ४० मिनट तक अपने असली लंड से चोदा। सोनिया की माँ चुद गयी।

“आदर्श भईया!! …छोड़ दो मैं मर जाउंगी!” सोनिया रो रोकर कहने लगी पर मैंने उसको ४० मिनट तक अपने लंड से चोदा और माल उसकी बुर में ही गिरा दिया। एक बार फिर से मैंने उस काले आर्टिफिशियल लौड़े को सोनिया के भोसड़े में डाल दिया और करीब एक घंटे तक उसको डिलडो से चोदता रहा। फिर मैंने सोनिया की गांड मारी। कहानी आपको कैसे लगी, अपनी कमेंट्स नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर जरुर दे।

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Online porn video at mobile phone


मेरी सती सावित्री रंडी भाभी ने कई लंडhindi xxx bhai ne apne janamdin pr choda hindi xxx saxi stotyसेक्स कहानी हिन्दी जिजा.comSardar apni beti ki chudai xxx kahani hindiSaadi के बाद दीदी seal. Bhai ne todaपापा से बचकर मम्मी की चुदाई सेक्स कहानियाKamukta servant massage hindi sex storyGhar ka maal ghar me chudai online sex story.comJed k ladke s chudbaya Mene hindi sex storyमैं खूब चुदाई कई दिनों तकभाभी को बांध antarvasnaMene aunty se shadi kiAnterwasna.com ma ke gand me hiroti hindi sex storySecx kahani sasu k pream kahani damad k sathभाई बहन का सेक्स कहानीantaravsna principal and momमौसी की चुदाई की कहानियांमराटिसैकसकहानियाघर मे सभी लोग चुदाई का जश्न नंगी होकर मनाएदमदार लड से चुदाई मेरीHindi sex stories ruपति के सामने अनजान मर्द से चुदवा लीनये साल पर चुदाईदेवर ने देवरानी के साथ चोदामेरी चुत फटीchori ke salwar me ched kiaTeen din tak ghodi bana ke chodamom Ki hot story Antarvasna. Comभतीजे ने मुझे बहुत चोदामला झवला कथाहिंदी सेक्स स्टोरी कार में चुदाई बहनVirgin Girls muth marte hue मौसी की चुदाई की कहानियांसास दामाद मा बेटे ओपेन सैकसी बिडीओदेवर ने देवरानी के साथ चोदाबीबी को दूसरे मर्द से चुदवायाबहु और बेटी की कामुकता भरी चुदाईSex khani sotele bap ne jm kr choda बहिणीचे बोल बघून माजा लंड कडक झाला gey sex story bap beta nebiwi ka shadi se pahle gangbang hindi storiesXxx sex story condom Mami Chachi sirfमराठी कामुक कथामामीको चोदने का मौका विडियोnon veg 3x sex story in hindinon veg 3x sex story in hindioral sex story in hindigadarai aurat ki chudai ki kahaniरात में विधवा आंटी को चोदाबहन भाई भैया दीदी जंगल घर की सेक्स स्टोरी कहानी ।Secx kahani sasu k pream kahani damad k sathFoujio ne bahan ko chodamaa beta ghumne gaye goa sex hogaya storiebhaiya ka maine ilaj kiya sex storyदूध ऑफ़ भाभी विडो इन सेक्स स्टोरीजFoujio ne bahan ko chodaचुत पर मेहंदी लगा कर चुदाई कीसास दामद भाई बहन ओपेन सेकसी बिडीओहिदी सेकसी कहानी गाड मारापत्नी को चुदवाकर बनाया वेश्याबहु और बेटी की कामुकता भरी चुदाईभाई ने मेरेको चोदमेरी पहली चुत चुदाईमेरी चुत फटीnanveg story lesbiandost ki mummy NE karz ke badle chut marwaiwww nonvegstory com apni aurat ko banaya mohalle ki sabse badi randidubai me bete ke sath hanimun xxx kahani chudai k mja 2 -2 bahuo k sath hindi kahaniसास दामाद मा बेटे ओपेन सैकसी बिडीओ